join party
Donate
supporter
volunteer
share
बेरोजगारी खत्म करना और महिलाओ के सिर से मटके उतरवाना होगी प्राथमिकता:- नीलम अग्रवाल

निमडीवाली और गौरीपुर में ग्रामीणों ने श्रीमती अग्रवाल को लड्डूओ से तोला, मिला भारी जनसमर्थन।

भिवानी:- समस्त भारतीय पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष एंव भिवानी विधानसभा प्रत्याशी श्रीमती नीलम अग्रवाल ने क्षेत्र में मिले रहे भारी जनसमर्थन से उत्साहित होकर बडे ही भावुक अंदाज में कहा कि क्षेत्र की जनता ने उन्हें  परिवार के सदस्य की तरह प्यार व सम्मान दिया है। जिसकी वे सदैव ऋणी रहेंगी। उन्होंने कहा कि भिवानी के विकास के लिए उनके जहन में अनेको योजनाएं हैं क्योंकि भिवानी शहर व गाँवो में हर व्यवस्था बिगड़ी हुई है लेकिन उनकी प्राथमिकता भिवानी को औद्योगिक नगरी के रूप में विकसित कर बेरोजगारी को खत्म करना और पीने के पानी की सबसे ज्यादा समस्याऐं झेल रही महिलाओ के सिर से मटके उतरवाना होगी। 
श्रीमती अग्रवाल ने बड़े ही विश्वास के साथ ये दावा किया कि 6 वर्षो की कड़ी तपस्या और लोगो के मिल रहे प्यार व विश्वास के आधार पर वो अपनी जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त है। श्रीमती अग्रवाल ने हल्के के अपने तुफानी दौरे के दौरान निमडीवाली, गोबिन्दपुरा, धारेडू, गौरीपुर, उमरावत, कोंट आदि गांवो का दौरा कर सभाओं को सम्बोधित किया। गांव निमडीवाली और गौरीपुर में ग्रामीणों ने श्रीमती अग्रवाल को लड्डुओं से तोला और गांव की ओर से सभापा के समर्थन की घोषणा की। कार्यकर्ताओ के साथ और विश्वास से गदगद नीलम अग्रवाल ने ये ऐलान किया कि अगर क्षेत्र की जनता ने मुझे कलम की ताकत दे दी तो मैं अकेली क्षेत्र की तकदीर व तस्वीर बदलने में सक्षम हूँ और सतापक्ष व विपक्ष की चिंता किए बगैर अपने लोगों के हको की लड़ाई लडऩे को कृतसंकल्प हूँ।
श्रीमती नीलम अग्रवाल ने कहा कि मैंने कभी ओछी राजनीति नहीं की है और ना ही मैं इसमें विश्वास रखती हूँ। मैं दिखावे में नहीं लोगो के दिलों को जीतने में विश्वास रखती हँ। उन्होने कहा कि नेता परिवार से राजनीति पाते है पर मैंने राजनीति से परिवार पाया है। भिवानी की जनता मेरा परिवार है और छोटी काशी का गौरव लौटाना मेरा धर्म। श्रीमती अग्रवाल ने कहा कि लोगो के प्यार व सम्मान का ऋण में जिंदगी भर नही भूलूँगी और लोगो को वो हर सुविधा उपलब्ध करवाऊँगी जिसके लिए जनता वोट डालकर अपना नेता चुनती हैं। इस अवसर पर पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के अलावा सैकडो की संख्या में लोग उपस्थित थे।