join party
Donate
supporter
volunteer
share
व्‍यक्ति को नहीं, विशेषता को दें वोट

आप अपना वोट किस आधार पर देते हैं। यह जटिल लेकिन महत्‍वपूर्ण प्रश्‍न है। कुछ लोग दल के नाम पर तो कुछ व्‍यक्ति के नाम पर वोट डालते हैं। ऐसे लोगों से हमारा अनुरोध है कि वे दल या व्‍यक्ति नहीं विशेषता को वोट दें। विशेषता यह कि जिसे अाप मत दे रहे हैं, वह जनप्रतिनिधि होने की कितनी योग्‍यता रखता है। 

आज हम बात करेंगे छोटा काशी कहे जाने वाले भिवानी विधानसभा क्षेत्र  की। 
ठप्‍प होते उद्योग धंधे, अपराध की दलदल में धंसते बेरोजगार युवा, सरकारी अनुकंपा की ओर आस लगाकर बैठा रहने वाला किसान.. ये सब भिवानी की बदहाली की बानगी भर है। चुनाव में ताल ठोक रहे दूसरे राजनीतिक दलों के पास क्‍योंकि इन समस्‍याओं का समाधान करने की न नीयत है और न योग्‍यता, इसलिए वे हमेशा की तरह प्रलोभन देकर कुर्सी पाने की कोशिश में हैं। न बेरोजगारी भत्‍ता देना और न पेंशन बढाना इन समस्‍याअों का समाधान है। 

सभापा प्रत्‍याशी श्रीमती नीलम अग्रवाल ने अपने जनसंपर्क के दौरान हल्‍के की एक-एक गली का दौरा किया है। भिवानी अभी सिर्फ नाम के लिए छोटा काशी है, लेकिन श्रीमती नीलम अग्रवाल यहां की पुरातन धरोहरों को ट्युरिस्‍ट साइट के रूप में विकसित कर ट्युरिज्‍म को बढावा देने का विजन एवं योग्‍यता रखती हैं। कौन नहीं जानता कि गुजरात, एमपी और उत्‍तर प्रदेश जैसे राज्‍य टयुरिज्‍म से कितना लाभ अर्जित कर रहे हैे, लेकिन हरियाणा में आयी सरकारों ने इस सेक्‍टर की पूरी तरह अनदेखी की है। सभापा सरकार ऐसा नहीं करेगी। ट्युरिज्‍म बढेगा तो युवाओं को रोजगार के जरिए हांसिल होंगे और सरकारी खजाने में जो धन एकत्रित होगा उसे क्षेत्र के विकास कार्यों पर खर्च किया जाएगा। 

सभापा अध्‍यक्ष श्री सुदेश अग्रवाल ने हमेशा दोहराया है कि हम शब्‍दों के जाल बुनना नहीं जानते, प्रदेश का विकास मैप हमाने पास है और हरियाणा को विश्‍व के विकसित राज्‍यों में शामिल करने की योग्‍यता भी हम रखते हैं। हमें जरूरत है तो जनता के साथ की। अगर विकास में है आपका विश्‍वास तो आइए हमारे साथ।

Back