join party
Donate
supporter
volunteer
share
तोशाम सीट सुदेश अग्रवाल के नाम

समस्‍त भारतीय पार्टी के अध्‍यक्ष एवं तोशाम विधानसभा प्रत्‍याशी सुदेश अग्रवाल को क्षेत्र में सभी तबकों और वर्गों का खासा समर्थन प्राप्‍त हो रहा है, खासकर युवा वर्ग का। हमारा दृढ विश्‍वास है कि सभापा अध्‍यक्ष की साफ छवि और अतुल्‍य नेतृत्‍व क्षमता उन्‍हें विजयश्री दिलाकर रहेगी। विश्‍ेाष बात यह है कि सभापा की जीत को ओर बह रही इस बयार को विरोधी दलों ने भी  महसूस कर लिया है और ऐसा लगता है कि वे भी इस सीट से श्री अग्रवाल की जीत निश्चित मान चुके हैं। 

एंटी इनकम्‍बेंसी फेक्‍टर इन चुनावों में अहम रोल अदा करेगा, इस बात में कोई दो राय नहीं है। लोकसभा चुनावों की तरह हरियाणा विधानसभा चुनावेां में भी कांग्रेस का सुपडा साफ होने वाला है। फिर तोशाम की जनता तो कांग्रेसी विधायक किरण चौधरी के कार्यकाल से खासी नाराज है। दूसरी ओर भाजपा की यहां संभावित हार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भाजपा के किसी भी स्‍टार प्रचारक ने इस सीट की सुध नहीं ली है। शायद वे मान चुके हैं कि यह सीट समस्‍त्‍ा भारतीय पार्टी के खाते में लिखी जा चुकी है। 

भाजपा की आपसी लडाई भी इसी का प्रमाण है। एक तरफ भाजपा का कमजोर प्रत्‍याशी और दूसरी ओर इस इलाके से भाजपा सांसद का भाई निर्दलीय उम्‍मीदवार। इस आपसी विरोध का लाभ भी सभापा को मिलना तय है, क्‍योंकि अब हरियाणा बदल रहा है। ज्‍यादातर मतदाता परिवार के युवा सदस्‍यों की सोच को महत्‍व देने लगे हैं अौर प्रदेश का युवा समस्‍त भारतीय पार्टी की रोजगारपरक एवं विकास की नीतियों का समर्थक है। 

वहीं इनेलो सुप्रीमों के जेल जाने के बाद पार्टी को तोशाम ही नहीं, प्रदेश की ज्‍यादातर सीटों पर हार का मुंह देखना पड सकता है। आखिरकार लोग ऐसी सरकार नहीं चाहते जिनके शीर्ष नेता जेल में बैठे हों। यह सभापा का गणित हो सकता है, लेकिन सच्‍चाई यही है, इसे स्‍वीकार कर दूसरे दलों ने भी प्रचार के आखिरी दिनों में इस सीट पर कोई विशेष दिलचस्‍पी नहीं दिखायी।

Back